Header Ads Widget

ISKCON Temple Bangalore In Hindi, Famous Hindu Temple,2021

 

ISKCON Temple Bangalore Image


इस्कॉन मंदिर बैंगलोर के बारे में जानकारी 

नमस्कार दोस्तो स्वागत है आप सभी का मेरे इस लेख में जिसमें मैं आपको बैंगलोर में स्थित इस्कॉन मंदिर के बारे में बताऊंगा। यह मंदिर भारत के कर्नाटक राज्य में  बैंगलोर के पास राजाजीनगर नामक जगह में स्थित है। इस्कॉन को इंटरनेशनल सोसाइटी फॉर कृष्णा कॉन्शियसनेस के नाम से जाना जाता है। यह एक हिंदू धार्मिक संगठन है जिसके मंदिर पूरे भारत के साथ-साथ विदेशों में भी स्थापित हैं। इसे हरे कृष्ण आंदोलन के नाम से भी जाना जाता है। यह संगठन गौड़ीय वैष्णववाद का अनुसरण करता है। पूरे विश्व भर में फैले सुंदर इस्कॉन मंदिर भक्तों और यात्रियों के लिए महान आकर्षण के केंद्र हैं। जो शहरी जीवन की हलचल से कुछ समय दूर रहना चाहते हैं। इस्कॉन की स्थापना भक्ति योग या कृष्ण भावनामृत के अभ्यास को प्रोत्साहित करने के उद्देश्य से की गई थी। इस्कॉन के सदस्य भगवान कृष्ण को प्रसन्न करने के लिए अपने शब्दों और कर्मों को समर्पित करते हैं। वे भगवान कृष्ण को ही सर्वोच्च मानते हैं।


विषय-सूची

1-  बैंगलोर इस्कॉन मंदिर का इतिहास।

2-  मंदिर की वास्तुकला।

3-  इस्कॉन मंदिर बैंगलोर का समय।

4-  मंदिर की विशेष विशेषताएं।

5-  इस्कॉन मंदिर बैंगलोर कैसे पहुंचे ?


बैंगलोर इस्कॉन मंदिर का इतिहास (ISKCON Temple Bangalore History In Hindi)

इस्कॉन मंदिर बैंगलोर भगवान श्री कृष्ण का मंदिर है। इस मंदिर को कर्नाटक सोसायटी पंजीकरण अधिनियम 1960 के अनुसार सन 1978 ईस्वी में रजिस्टर किया गया था। यह सोसायटी सन 1987 में बंगलौर में किराए के मकान से चल रही थी। वर्ष 1987 में समाज के नेताओं ने एक भव्य मंदिर और सांस्कृतिक परिसर के निर्माण के लिए भूमि आवंटन के लिए बैंगलोर विकास प्राधिकरण (बीडीए) को आवेदन किया। भूमि को 3 अगस्त, 1988 को आवंटित किया गया था। यह भूमि सात एकड़ की पहाड़ी पर एक चट्टान का एक विशाल टुकड़ा था। बीडीए ने इसे कराब भूमि (बंजर भूमि) के रूप में वर्णित किया। इसमे एक अस्थायी शेड का निर्माण कर एक अस्थायी मंदिर की स्थापना की गयी। जिसमें श्री कृष्ण और बलराम देवता की मूर्ति रखी गयी।

इस्कॉन बैंगलोर सोसाइटी के अध्यक्ष श्री मधु पंडित दास, आईआईटी (मुंबई) के एक योग्य सिविल इंजीनियर और श्री जगत चंद्र दास (एक भक्त जो एक वास्तुकार भी थे) की मदद से भगवान श्री कृष्ण के लिए एक अद्भुत मंदिर का निर्माण करने की योजना बनाई गयी। यह मंदिर कांच और गोपुरम का अनूठा संयोजन राजसी पारंपरिक शैलियों और नए सौंदर्यशास्त्र के बीच एक संलयन का प्रतिनिधित्व करता है। एक शुरुवाती अनुमान के हिसाब से मंदिर की लागत 10 करोड़ रुपये थी।  जिसने एक आश्चर्यजनक वास्तुशिल्प का मंदिर बनाने का मार्ग प्रशस्त किया। इस वास्तुशिल्प के निर्माण के लिए छह सौ कुशल कारीगरों ने 10 मिलियन से अधिक मानव-घंटे खर्च किए।

ISKCON Temple Bangalore Image


 

बैंगलोर इस्कॉन मंदिर मंदिर की वास्तुकला (Bangalore ISKCON Temple Temple Architecture)

इस्कॉन मंदिर बैंगलोर का निर्माण नव-वैदिक और वास्तुकला के पारंपरिक रूपों की विशेषताएं प्रदर्शित करता है। इन मंदिरों को 15 वीं शताब्दी के भारतीय महल की तरह डिजाइन किया गया है जो विस्तृत मेहराब, बरामदे और स्तंभों से परिपूर्ण है। भारत में स्थित कई इस्कॉन मंदिरों का निर्माण भी क्लासिक स्थापत्य शैली का उपयोग करके बनाया गया है। इस भव्य धार्मिक केंद्र का निर्माण इस्कॉन बैंगलोर सोसाइटी के अध्यक्ष श्री मधु पंडित दास के मार्गदर्शन में किया गया था। इस मंदिर की वास्तुकला कांच और गोपुरम का एक असाधारण मिश्रण प्रदर्शित करती है जो पारंपरिक शैलियों और आधुनिक सौंदर्यशास्त्र के बीच मिलन का प्रतीक है।

ISKCON Temple Bangalore Image


यहाँ पर क्लिक करके जानिये अमरनाथ मंदिर के इतिहास के बारे में 

 

बैंगलोर इस्कॉन मंदिर की सामाजिक सेवाएं (Social Services of Bangalore ISKCON Temple)

इस्कॉन मंदिर बैंगलोर में पर्यावरण के अनुकूल सुपारी के पत्ते में भारत का राष्ट्रीय व्यंजन खिचड़ी और प्रसाद दिया जाता है। इस्कॉन बैंगलोर जरूरतमंद लोगों को मुफ्त भोजन प्रदान करता है। जरूरतमंद लोगों को भोजन कराने की शुरुवात अक्षय पात्र फाउंडेशन मंदिर के सदस्यों द्वारा शुरू की गई है। जिसे पूरे भारत में बच्चों को खिलाने और शिक्षित करने के लिए संयुक्त राज्य के राष्ट्रपति बराक ओबामा से भी प्रशंसा मिली है। अक्षय पात्र फाउंडेशन मुख्य रूप से सम्पूर्ण भारत में सरकारी और सरकारी सहायता प्राप्त स्कूलों में बच्चों के लिए मध्याह्न भोजन कार्यक्रम को लागू करने में शामिल है। इसका संचालन के एक सार्वजनिक-निजी भागीदारी मॉडल के रूप में होता है, और यह केंद्र और राज्य सरकारों के साथ साझेदारी में काम कर रहा है। इस फाउंडेशन को वर्ष 2000 में स्थापित किया गया था। यह दुनिया का सबसे बड़ा गैर सरकारी संगठन द्वारा संचालित मिड-डे मील कार्यक्रम चलाता है। अक्षय पात्र वर्तमान में भारत के 11 राज्यों में 27 स्थानों पर काम कर रहा है।

 

बैंगलोर इस्कॉन मंदिर की विशेष विशेषताएं (Special Features of Bangalore ISKCON Temple)

1- हरि-नाम मंतप जो अपने प्रभु के दर्शन करने से पहले 108 बार हरे कृष्ण महा-मंत्र का जाप करने का एक अनूठा अवसर प्रदान करता है।

2- एक अन्नदान हॉल जहां मंदिर में आने वाले भक्तों को मुफ्त स्वादिष्ट लंच प्रसाद परोसा जाता है।

3- इस्कॉन के संस्थापक-आचार्य श्रील प्रभुपाद की पुस्तकों का वितरण, जिसमें भक्ति-योग के विज्ञान पर प्रकाश डालते हुए वैदिक ज्ञान का सार है

4- लेक्चर हॉल में आत्मा बदलने वाले शरीरों के विषय को चित्रित करने वाला एक दिलचस्प डायरिया।

5- 25 गायों वाली एक गोशाला, जिसका रख-रखाव तीन प्रशिक्षित डेयरी कर्मियों की टीम द्वारा किया जाता है। कुछ त्योहारों के अवसर पर तप्तोत्सव (उनके प्रभुत्व की नाव-सवारी) आयोजित करने के लिए रंगीन फव्वारे के साथ एक सुंदर तालाब।

6- दक्षिणाकृति, वैदिक परंपरा में हस्तशिल्प की एक प्रदर्शनी और बिक्री।

7- लिटिल कृष्णा का एक वीडियो शो, कृष्ण के बचपन के मनोरंजन पर इस्कॉन बैंगलोर द्वारा निर्मित एक लोकप्रिय एनिमेटेड श्रृंखला।

8- प्रसादम काउंटर जो स्वादिष्ट प्रसाद बेचते हैं - मिठाई, नमकीन, और दक्षिण और उत्तर भारतीय किस्मों के पके हुए सामान, जूस, दूध, आदि।

9-मंदिर के सभी आगंतुकों को मुफ्त प्रसाद भी परोसा जाता है।

10-द्वारकापुरी हॉल और मथुरा हॉल जहां कोई भी धार्मिक या सामाजिक समारोह, कॉर्पोरेट बैठकें और सेमिनार आयोजित किए जा सकते हैं।

ISKCON Temple Bangalore Image


महाराष्ट्र में स्थित द्वारकाधीश मंदिर के बारे में यहाँ पर क्लिक करके जाने 

 

इस्कॉन मंदिर बैंगलोर का समय (ISKCON Temple Bangalore Timings)

इस्कॉन मंदिर बैंगलोर के कपाट खुलने की समय सारणी नीचे दी गयी गई है-

सुबह 4:00 बजे मंदिर खुलने का समय।

सुबह 4:15 बजे मंगला आरती।

सुबह 4:45 बजे श्री तुलसी पूजा।

सुबह 5:00 बजे श्री नरसिंह आरती।

सुबह 5:10 बजे श्रीनिवास गोविंदा के लिए सुप्रभात सेवा।

सुबह 5:20 बजे नित्य षोडश उपकार पूजा और जप ध्यान।

सुबह 7:15 बजे श्रृंगार दर्शन आरती और गुरु पूजा।

सुबह 8:30 बजे श्रीमद-भागवतम पर व्याख्यान।

इस्कॉन मंदिर सप्ताह के सभी दिनों में खुले रहता है।

मंदिर सुबह 4.15 बजे से दोपहर 1.00 बजे तक और शाम को 4.15 बजे से रात्री 8.30 बजे तक खुला रहता है। मुख्य मंदिर में तीन पुजारियों द्वारा आरती की जाती है। इस आरती के बाद मंदिर में कीर्तन और भजन होते हैं, जहां पर सभी भक्तों को "हरे कृष्ण हरे राम" नामक संगीत की ताल पर नृत्य करते और झूमते हुये देखा जा सकता है।

 

इस्कॉन मंदिर बंगलौर में उत्सव समारोह (festivals celebrations in iskcon temple bangalore)

इस्कॉन मंदिर बैंगलोर में में जो त्योहार मनाए जाते हैं ओ सभी या तो भगवान विष्णु से या वैदिक संस्कृति से संबंधित होते हैं। मंदिर के भीतर मनाए जाने वाले प्रमुख त्योहारों के नाम नीचे दिये गए है-

1- राम नवमी।

2- ब्रह्मोत्सव।

3- नरसिंह जयंती।

4- पानीहाटी चिड़ा-दही।

5- रथ यात्रा।

6- बलराम जयंती।

7- झूलन उत्सव।

8- श्रीकृष्ण जन्माष्टमी।

9- स्वागतम कृष्ण।

10- व्यास पूजा।

11- श्री राधाष्टमी।

12- दीपोत्सव।

13- गोवर्धन पूजा।

14- वैकुंठ एकादशी।

15- नित्यानंद त्रयोदशी।

16- गौरा पूर्णिमा।

17- कृष्ण श्रृंगार।

18- कुंभाभिषेक।

 

 

इस्कॉन मंदिर बैंगलोर का पता (ISKCON Temple Bangalore Address)

इस्कॉन मंदिर बैंगलोर का पता निम्न प्रकार है-

हरे कृष्णा हिल, कॉर्ड रोड, राजाजीनगर, बेंगलुरु, कर्नाटक 560010

बैंगलोर इस्कॉन मंदिर का कोंटेक्ट नंबर - +91-8023471956

ISKCON Temple Bangalore Image



 

इस्कॉन मंदिर बैंगलोर के पास घूमने की जगह (places to visit near iskcon temple bangalore)

इस्कॉन मंदिर बैंगलोर के आस पास घूमने के लिए बहुत सारी जगहें हैं। वैसे घूमने के लिए बैंगलोर शहर अपने आप में ही बहुत खूबसूरत जगह है। लेकिन फिर भी कुछ प्रमुख जगहों के बारे में नीचे बताया गया है-

1- बनशंकरी मंदिर (Banashankari Temple)

बैंगलोर दक्षिण में पुराने और प्रसिद्ध मंदिरों में से एक। बंशंकरी बस स्टैंड और मेट्रो स्टेशन के बगल में कनकपुरा रोड पर स्थित स्थित है। इस मंदिर को कुछ साल पहले पुनर्निर्मित किया गया है। यह मंदिर बहुत बड़ा और विशाल दिखता है। मंगलवार और शुक्रवार को हमेशा भीड़ रहती है, सभी भक्त यहाँ नींबू आरती से पूजा करते हैं। बनशंकरी देवी पर लोगों की अटूट आस्था है। यह मंदिर इस्कॉन मंदिर से लगभग 20 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है।

2- कर्नाटक चित्रकला परिषद (Karnataka Chitrakala Parishat)

चित्रकला परिषद बैंगलोर में कला का एक प्रसिद्ध स्कूल है, जिसमें एक उत्साही पूर्व छात्रों की सूची बनाई गयी है। इस परिषद में एक संग्रहालय, एक स्टोर और देखने लायक एक गैलरी है। यहाँ गैलरी और संग्रहालय में चित्रों और शिल्प के स्थायी प्रदर्शन हैं। अपने बहुप्रतीक्षित उत्सवों के दौरान ये सभी चित्र जीवंत हो उठते हैं। वार्षिक हस्तशिल्प मेला और चित्रा संथे (कला बाजार) दोनों ही कलाकारों और शिल्पकारों के लिए आउटलेट प्रदान करते हैं। यह चित्रकला परिषद इस्कॉन मंदिर से 8 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है।

3- श्री अन्नम्मा देवी मंदिर (Sri Annamma Devi Temple)

बंगलौर में अन्नम्मा देवी का मंदिर राजसी के केंद्र में स्थित है। यह देवी बहुत अधिक शक्तिशाली हैं, जो हमारी सभी मनोकामनाओं को पूरी करती हैं। जब भी आप राजसी आते हैं तो इस मंदिर में दर्शन के लिए जरूर जाएँ। अन्नम्मा देवी बंगलौर के लिए ग्रामदेव हैं, जो सभी बुराइयों से लोगों की रक्षा करती हैं और अपने भक्तों की देखभाल करती हैं। यह मंदिर इस्कॉन मंदिर से 7 किलोमीटर की दूरी पर है।

4- जवाहर लाल नेहरू तारामंडल (Jawahar Lal Nehru Planetarium)

इस जगह में कई बहुत ही रोचक विज्ञान प्रयोग दिखाये जाते हैं। जो बच्चों और वयस्कों दोनों के लिए उपयुक्त हैं। पुली कैसे काम करती है, प्रकाश का अपवर्तन कैसे होता है, ऑप्टिकल भ्रम कैसे काम करता है यही सब दिखाया जाता है। तारामंडल के अंदर 12:30 और 1:30 बजे शो होता है, शो के लिए टिकट 75 रुपये है। चंद्रमा, ग्रहों पर पोस्टर भी हैं, भारत में वेधशालाएं, क्षुद्रग्रह कैसे दिखते हैं, और वे किस चीज से बने हैं। यह पूरे परिवार के लिए एक मजेदार सैर है। इस तारामंडल की दूरी इस्कॉन मंदिर से लगभग 9 किलोमीटर है।

5- संस्कृति के छल्ले (Culture Rings)

कल्चर रिंग्स ने बैंगलोर में अनुभवात्मक पर्यटन बनाने में अग्रणी भूमिका निभाई। आज यह यात्रियों और प्रवासियों के बीच सबसे भरोसेमंद नाम है। इसने कक्षा के सर्वश्रेष्ठ दौरों के लिए एक प्राचीन प्रतिष्ठा अर्जित की है जो आपको संस्कृति के केंद्र में ले जाती है। हम जो अनुभव साझा करते हैं, वे भारत में जीवन और कार्य के बारे में प्रासंगिक वास्तविकताओं को सामने लाते हैं, और हमारी भूमि के इतिहास को उजागर करते हैं। कल्चर रिंग्स से इस्कॉन मंदिर की दूरी लगभग 13 किलोमीटर है।

 

 

इस्कॉन मंदिर बैंगलोर कैसे पहुंचे (how to reach ISKCON Temple Bangalore)

हवाई मार्ग से इस्कॉन मंदिर बैंगलोर में पहुँचने के लिये केम्पेगौड़ा अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा बेंगलुरु से टैक्सी या बस के माध्यम से पहुँच सकते हैं। हवाई अड्डे से मंदिर की दूरी लगभग 35 किलोमीटर है।

रेल मार्ग से इस्कॉन मंदिर बैंगलोर में पहुँचने के लिये डॉ. बी.आर. अम्बेडकर स्टेशन से ऑटो टैक्सी या टैक्सी से मंदिर परिसर तक पहुँच सकते हैं। रेलवे स्टेशन से मंदिर की दूरी लगभग 8 किलोमीटर है।

रोड मार्ग से इस्कॉन मंदिर बैंगलोर में पहुँचने के लिये कर्नाटक राज्य के किसी भी शहर से परिवहन निगम की बसों,निजी बसों और टैक्सियों के माध्यम से मंदिर परिसर में पहुँच सकते हैं।

 

ISKCON Temple Bangalore Road Map

 
इस्कॉन मंदिर बैंगलोर के पास होटल (hotels near iskcon temple bangalore)

इस्कॉन मंदिर बैंगलोर के पास स्थित होटलों की सूची नीचे दी गयी है। आप अपनी सुविधानुसार किसी भी होटल में रुक सकते हैं। ये सभी होटल मंदिर के पास ही स्थित हैं-

1- Holiday Inn Bengaluru Racecourse.

2- Renaissance Bengaluru Race Course Hotel.

3- Holiday Inn Bengaluru Racecourse.

4- The Royale Senate.

5- Goldfinch Bengaluru.

6- Octave Hotel and Spa - JP Nagar.

7- Castle JP Service Apartments.

8- Mistyblue Serviced Apartments.

9- Lilac Hotel 3rd Block.

10- Mistyblue Suites.


एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ