Header Ads Widget

कैंची धाम मंदिर के बारे में जानकारी, Kainchi Dham Neem Karoli Baba Ashram, 2022


Kainchi Dham in Hindi

नमस्कार दोस्तों स्वागत है आप सभी मेरे एक और नये लेख में जिसमें मैं आज आपको कैंची धाम मंदिर के बारे में बताऊँगा। कैंची धाम मंदिर उत्तराखंड के नैनीताल जिले में भवाली नामक स्थान के पास स्थित है। इस स्थान को बाबा नीम करोली महाराज जी के कारण भारत ही नहीं पूरे विश्व में एक अलग पहचान मिली है। यहाँ प्रतिदिन, प्रत्येक मौसम में सैकड़ों की संख्या भक्तगण बाबा नीम करोली महाराज जी के दर्शन के लिए आते हैं। इस मंदिर में प्रतिवर्ष मंदिर की स्थापना दिवस के अवसर पर 15 जून को विशाल भंडारे का आयोजन किया जाता है। जिसमें लगभग 1 लाख से भी अधिक लोगों को भोजन कराया जाता है। यह आश्रम अनेक चमत्कारों के लिए जाना जाता है। सभी भक्तों का मानना है कि महाराज जी भगवान हनुमान जी के अवतार हैं।

 

विषय-सूची

1- कैंची धाम मंदिर का इतिहास।

2- कैंची धाम मंदिर की वास्तुकला।

3- कैंची धाम मंदिर के बारे में कुछ रोचक जानकारियाँ।

4- कैंची धाम मंदिर का खुलने का समय।

5- कैंची धाम मंदिर के पास घूमने वाले स्थान।

6- कैंची धाम मंदिर में कैसे पहुँचे ?

 

कैंची धाम मंदिर का इतिहास History of Kainchi Dham Temple

कैंची धाम मंदिर के इतिहास के बारे में बताया जाता है कि यह स्थान सन 1942 ईस्वी में अस्तित्व में आया। जब कांची गांव के श्री पूर्णानंद के साथ महाराज नीम करोली जी ने यहां सोमबरी महाराज और साधु प्रेमी बाबा को समर्पित एक आश्रम बनाने का प्रस्ताव रखा। प्राचीन समय में सोमबरी महाराज और साधु प्रेमी बाबा इसी स्थान पर यज्ञ किया करते थे। महाराज जी का सपना सन 1962 ईस्वी में साकार हुआ और इस क्षेत्र के जंगल को साफ करके यहाँ पर एक आयताकार मंच का निर्माण किया गया। बाद में वन संरक्षक से अनुमति मिलने के बाद महाराज जी ने इस भूमि का पट्टा प्राप्त कर लिया। उसके बाद आयताकार मंच के ऊपर भगवान हनुमान जी को समर्पित एक मंदिर का निर्माण किया गया और इसके बगल में कैंची मंदिर और भक्तों के लिए एक आश्रम बनाया गया है।

बाद में महाराज जी के भक्त अलग-अलग जगहों से यहाँ पर आने लगे और भंडारे, भजन, कीर्तनों का सिलसिला शुरू हो गया। यहाँ पर प्रत्येक वर्ष 15 जून को हनुमानजी और अन्य की मूर्तियों की प्राण-प्रतिष्ठा की जाती है। इस प्रकार प्रत्येक वर्ष 15 जून को प्रतिष्ठा दिवस के रूप में मनाया जाता है। इस दिन बड़ी संख्या में भक्त कैंची मंदिर में आते हैं और प्रसाद प्राप्त करते हैं। श्रद्धालुओं की संख्या और उनसे जुड़े वाहनों की आवाजाही इतनी अधिक हो जाती है कि जिला प्रशासन को इसे नियंत्रित करने के लिए विशेष व्यवस्था करनी पड़ती है।

कैंची धाम मंदिर,Kainchi Dham Temple


कैंची धाम मंदिर की वास्तुकला Architecture of Kainchi Dham Temple

कैंची धाम मंदिर परिसर में भगवान हनुमान को समर्पित एक छोटा मंदिर है। इस मंदिर का निर्माण उत्तर भारतीय शैली के अनुसार किया गया है। यहाँ पर बाबा नीम करोली की याद में एक प्रार्थना कक्ष भी बनाया गया है और उसके पास ही मंदिर परिसर में बाबा नीम करोली को समर्पित एक मंदिर भी विराजमान है। यह आश्रम छोटा है लेकिन बहुत प्रभावशाली आश्रम जो एक नदी के तट पर बना है।

 

उत्तराखंड के मंदिरों के बारे में जानने के लिए यहाँ पर क्लिक करें। 


कैंची धाम मंदिर के बारे में कुछ रोचक जानकारियाँ Some interesting facts about Kainchi Dham Temple

नीचे कैंची धाम मंदिर के बारे में कुछ रोचक जानकारियाँ बताई हैं। जो पहले नहीं जानते होंगे।

1- आध्यात्मिक के प्रसिद्ध लेखक रिचर्ड अल्परट ने अपनी किताब (मिरेकल ऑफ लव) में नीम करोली बाबा के चमत्कारों के बारे में बताया है। उस किताब में उन्होंने बताया है कि बाबा ने दुश्मनों से घिरे एक जवान को कैसे अपने आशीर्वाद से बचाया था। वह पूरी रात गोली बारी का सामना करते रहा। उसके सारे साथी मारे जा चुके थे और उसे एक गोली छु भी नहीं पाई। रिचर्ड अल्परट नीम करोली महाराज जी के आध्यात्मिकता से इतने प्रभावित हुए कि उन्होंने अपना नाम भी बदल दिया।

 2- एक बार नीम करोली बाबा ने अपनी शक्तियों से सामान्य से पानी को बदलकर स्वादिष्ट घी बना दिया था। उस समय बाबा के भक्तों के पास प्रसाद के लिए घी काम होता था। बाबा ने भक्तों से कहा नीचे नदी से पानी लेकर और उससे प्रसाद बनाओ। जब भक्त पानी से प्रसाद बनाने लगे तो वह पानी घी में बदल गया था।

3- एक बार यात्रा में जाते समय पसीने से भीगता हुआ भक्त बाबा से मिलने आया था। वह धूप और गर्मी के कारण आगे की यात्रा करने में सक्षम नहीं था। लेकिन फिर भी उसे अपनी आगे की यात्रा पूरी करनी थी। जब वह कैंची धाम मंदिर में आया और उसने मंदिर के दर्शन किए तो उसकी सारी थकान खत्म हो गई और वह खुद को तरोताजा महसूस करने लगा। बाबा ने उसे आगे के सफर के लिए एक छाता प्रदान की थी।

4- मार्क जुकरबर्ग ने बताया था कि जब वह अपने बिजनस के शुरुवाती दिनों में संघर्ष कर रहे थे और उनके बिजनस को बेचने तक की नौबत या गई थी, तो वह अपने मित्र सलाह में कैंची धाम मंदिर में आए थे। यहाँ आकर उनको एक अलग ही प्रकार की ऊर्जा मिली थी। मार्क जुकरबर्ग ने इस बात को भी काबुल किया है कि बाबा के आशीर्वाद से उन्होंने अपने बिजनस को यहाँ तक पहुंचाया है।

5 - नीम करोली बाबा तीनों लोकों के देखने वाले त्रिकाल दर्शी थे। उन्होंने अपने मृत्यु के बारे में बहुत अधिक समय पहले अपने भक्तों को बता दिया था।

6- नीम करोली बाबा अपने जीवन में हर समय हर पल राम-नाम जपते रहते थे।

 

कैंची धाम मंदिर,Kainchi Dham Temple


कैंची धाम मंदिर का खुलने का समय Kainchi Dham Temple opening hours

नीम करोली बाबा का यह मंदिर भक्तों के लिए हमेशा खुला रहता है। यह मंदिर प्रतिदिन सुबह 7:00 बजे खुल जाता है। आप दिन भर किसी भी समय मंदिर में आकर दर्शन कर सकते हो। यह मंदिर शाम को 6:00 बजे बंद हो जाता है। सर्दियों के समय यहाँ बहुत ठंड पड़ती है। जिस कारण यहाँ स्थित आश्रम को बंद कर दिया जाता है। उस दौरान किसी विशेष अनुरोध पर इस आश्रम को खोल जाता है।  

 

तुंगनाथ मंदिर के बारे में जानने के लिए यहाँ पर क्लिक करें। 


कैंची धाम मंदिर का पता Kainchi Dham Temple Address

कैंची धाम मंदिर के पते के बारे में नीचे जानकारी दी गई है।

कांची धाम, नैनीताल, उत्तराखंड 263132.

 

कैंची धाम मंदिर,Kainchi Dham Temple


कैंची धाम मंदिर के पास घूमने वाले स्थान Places to visit near Kainchi Dham Temple

कैंची धाम मंदिर के आस पास घूमने वाली कुछ प्रमुख जगहों के बारे में नीचे बताया गया है। जहाँ पर आप अपने परिवार के साथ प्रकृति के शानदार दृश्यों का आनंद ले सकते हो।

1- भीमताल

भीमताल कैंची धाम मंदिर के पास ही काम भीड़ – भाड़ वाला शानदार हिल स्टेशन है। यहाँ का शांत वातावरण पर्यटकों के अपनी ओर आकर्षित करता है। आप भीमताल में झील पैडल बोटिंग, बर्डिंग और नेचर वॉक का आनंद ले सकते हो। भीमताल शहर देवदार के पेड़ों और घने जंगलों से घिरा है।

2- नैनीताल

नैनीताल उत्तराखंड में कुमाऊं के पर्वतों में बसा एक शानदार हिल स्टेशन है। यह उत्तर भारत का सबसे अधिक देखा जाने वाला हिल स्टेशन है। नैनीताल में पूरे साल एक सुखद जलवायु का अनुभव होता है, जिससे यह परिवारों, जोड़ों और यहां तक ​​कि अकेले यात्रियों के लिए भी एक लोकप्रिय हिल स्टेशन बन जाता है।

3- सातताल

सातताल सात ताजे पानी की झीलों का एक समूह है। यहाँ पर प्रकृति की सुंदरता, प्रवासी पक्षियों और सुंदर पहाड़ियों का एक समूह है। यह जगह समुद्र तल से 1370 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है। सतताल का सुहाना मौसम और शांत वातावरण पर्यटकों को अपनी ओर आकर्षित करता है।

4- रामगढ़

उत्तराखंड के नैनीताल जिले में हिमालय की गोद में बसा रामगढ़ प्राकृतिक सुंदरता के लिए बहुत प्रसिद्ध है। यह स्थान समुद्र तल से लगभग 1789 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है। रामगढ़ को सेब, प्लम, आड़ू और खुबानी के हरे-भरे बागों के कारण कुमाऊं का फलों का कटोरा भी कहा जाता है। यह स्थान अपनी विशिष्टता, एकांत और मोहक सुंदरता के बहुत प्रसिद्ध है।

5- श्यामखेत चाय बागान

अगर आप चाय पीने के शौकीन तो आपको श्यामखेत चाय बागान में जरूर जाना चाहिए। यह बागान गोलू देवता मंदिर के पास स्थित हैं। यहाँ जाकर आप देख सकते हैं कि चाय का उत्पादन कैसे किया जाता है। श्यामखेत चाय बागान जैविक चाय का उत्पादन किया जाता है।

 

कैंची धाम मंदिर में कैसे पहुँचे How to reach Kainchi Dham Temple?

हवाई मार्ग से कैंची धाम मंदिर में पहुँचने के लिए सबसे नजदीकी हवाई अड्डे पंतनगर एयरपोर्ट से टैक्सी के माध्यम से मंदिर परिसर तक पहुँच सकते हैं। हवाई अड्डे से मंदिर की दूरी 71 किलोमीटर है।

रेल मार्ग से कैंची धाम मंदिर में पहुँचने के लिए सबसे नजदीकी रेलवे स्टेशन काठगोदाम रेलवे स्टेशन से टैक्सी या बस के माध्यम से मंदिर परिसर तक पहुँच सकते हैं। रेलवे स्टेशन से मंदिर की दूरी 37 किलोमीटर है।

रोड मार्ग से कैंची धाम मंदिर तक पहुँचने के लिए आप उत्तराखंड परिवहन निगम की बसों, निजी बसों या टेक्सी के माध्यम से इस मंदिर परिसर तक पहुँच सकते हो।

 

Kainchi Dham Temple Road Map

कैंची धाम मंदिर के पास स्थित होटल Hotels Near Kainchi Dham Temple

कैंची धाम मंदिर के पास स्थित होटलों के बारे में जानकारी नीचे दी गयी है। यह सभी होटल मंदिर के आस पास ही स्थित है। आप अपनी सुविधानुसार नीचे दिये गए किसी भी होटल में रुक सकते हैं-

1- Kunwar Heritage.

2- Green Valley Hotel.

3- Seclude Ramgarh Arthouse.

4- Amar Valley Resort.

5- Hotel Green Park.

6- Gemini Inn.

7- Kainchi Dham Home Stay.

8- Chirag Homestay kainchi Dham.

9- BHAWANI GUEST HOUSE.

10- Green Valley View.

 

Conclusion

आशा करता हूँ कि मैंने जो आपको कैंची धाम मंदिर के बारे में आपको जानकारी दी वह आपको अच्छे से समझ आ गयी होगी। मैंने इस पोस्ट में इस मंदिर से संबन्धित सम्पूर्ण जानकारी देने का प्रयास किया है।

अगर आप किसी मंदिर के बारे में जानना चाहते हो तो हमें कमेंट करके बताएं। जो भी लोग आपके आस पास में या आपके दोस्तो में मंदिरों के बारे में जानना चाहते हैं, आप उनको हमारा पोस्ट शेअर कर सकते है। हमारी पोस्ट को अपना कीमती समय देने के लिए धन्यवाद।

Note

अगर आपके पास कैंची धाम मंदिर के बारे में और अधिक जानकारी है तो आप हमारे साथ शेअर कर सकते हैं, या आपको मेरे द्वारा दी गयी जानकारी आपको गलत लगे तो आप तुरंत हमे कॉमेंट करके बताएं।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ